Android Vs IOS कौन है जबरदस्त, जानिए इस पोस्ट में !

0
731
Android VS IOS which is best ?

आमटेक.नेट: पिछले दस सालों में हमने फ़ोन को स्मार्टफोन बनते हुए देखा है। साधारण फ़ोन को स्मार्ट अगर कोई चीज बनाती है तो वह है ऑपरेटिंग सिस्टम और यही एक वजह है के आज हम बेहतर ऑपरेटिंग सिस्टम वाला फ़ोन लेना पसंद करते है। स्मार्टफोन के इस दौर जावा, सिम्बियन, बाड़ा, विंडोज एंड्राइड और आईओएस जैसी कई ऑपरेटिंग सिस्टम उभरकर आई है लेकिन आज के वक्त में बाजार में सिर्फ एंड्राइड और आईओएस ही टिक पाई है।

दुनिया के 90 प्रतिशत से भी ज्यादा स्मार्टफोन में आज एंड्राइड यह ऑपरेटिंग सिस्टम है तो वही एप्पल जैसी कंपनी के कारण आईओएस अभी भी टिका हुआ है। यह दोनों ऑपरेटिंग सिस्टम आज के वक्त में सबसे मशहूर ऑपरेटिंग सिस्टम मानी जाती है। आज की इस पोस्ट में हम इन ऑपरेटिंग सिस्टम की कुछ मुद्दों के आधार पर तुलना करेंगे तो चलिए शुरू करते है।

सिक्यूरिटी:

सोशल मीडिया के इस ज़माने में अपना पर्सनल डेटा सुरक्षित रखना काफी जरूरी हो गया है। एंड्राइड एक ओपन सोर्स ऑपरेटिंग सिस्टम की तरह काम करते हुए आई है तो वही आईओएस शुरुआत से ही एक क्लोज्ड ऑपरेटिंग सिस्टम रही है। क्लोज्ड ऑपरेटिंग सिस्टम होने की वजह से एप्पल का पूरी तरह से अपने स्मार्टफोन पर कण्ट्रोल है तो वही एंड्राइड एक ऐसी ऑपरेटिंग सिस्टम है जो काफी ज्यादा पैमाने में इस्तेमाल की जाती है इसी वजह से इसके ऊपर कण्ट्रोल रखना गूगल को काफी मुश्किल जाता है। खैर अगर आप अपनी सिक्यूरिटी को ज्यादा एहमियत देते है तो आपको आईफोन के साथ जाना चाहिए।

यूजर इंटरफ़ेस:

स्मार्टफोन में मिलने वाली एंड्राइड और आईओएस यह ऑपरेटिंग दोनों सिस्टम काफी अच्छे इंटरफ़ेस के साथ आती हैं। यहाँ पर बात अपने पसंद की है अगर क्लीन और तेज इंटरफ़ेस चाहिए है तो आपको आईओएस के साथ जाना चाहिए। लेकिन अगर आप ऐसे कोई इंसान है जिसे अपने फ़ोन को कस्टमाइज करना पसंद है तो एंड्राइड एक काफी बेहतर विकल्प साबित होता है।

सॉफ्टवेर अपग्रेड:

एंड्राइड और आईओएस दोनों में आपको हर साल नया अपडेट दिया जाता है। लेकिन एंड्राइड में अकसर देखा गया है के थर्ड पार्टी ब्रांड की तरफ से दो साल से पुराने फ़ोन को अपडेट नहीं दिया जाता है। आपको बता दे के गूगल सिर्फ 18 महीनों तक ही अपडेट प्रोवाइड करता है उसके बाद अपडेट देने के लिए स्मार्टफ़ोन ब्रांड को गूगल को अधिक पैसे देने पड़ते है। फ्लैगशिप स्मार्टफोन के लिए ब्रांड ज्यादा पैसे देकर 2 से 3 साल तक अपडेट प्रोवाइड करते है लेकिन बजट स्मार्टफोन में अपडेट नहीं देते है। खैर आप अलग-अलग रॉम का इस्तेमाल करके अपडेट पा सकते है लेकिन वह सिक्योर तरीका नहीं है।

वही अगर हम आईओएस की बात करें तो एप्पल अपने 4 से 5 साल पुराने फ़ोन को भी अपडेट देता है जो एप्पल की सबसे अच्छी बात है और इसी वजह से ज्यादातर यूजर एप्पल के साथ जाना ज्यादा पसंद करते है। दोनों की अगर हम यहाँ पर तुलना करें तो एप्पल आईओएस एंड्राइड से सॉफ्टवेर अपग्रेड के मामले में काफी बेहतर है।

उपलब्धता:

आईओएस यह ऑपरेटिंग सिस्टम सिर्फ एप्पल के आईफ़ोन में ही देखने के लिए मिलती है। हम सब जानते है के एप्पल के सभी स्मार्टफोन काफी महंगे होते है और इसी कारण आईओएस के काफी कम यूजर है। एंड्राइड एक ऐसी ऑपरेटिंग सिस्टम है जो 2 हजार से लेकर 75 हजार वाले सभी स्मार्टफोन में देखने के लिए मिलती है जो की एक काफी अच्छी बात है इस ऑपरेटिंग सिस्टम की।

निष्कर्ष:

दोनों ऑपरेटिंग सिस्टम काफी बेहतरीन है लेकिन इस वक्त के लिए एंड्राइड एक बेहतर ऑपरेटिंग सिस्टम है। अगर आप एंड्राइड से बोअर हो चुके है तो आपको एप्पल की आईओएस यह ऑपरेटिंग सिस्टम एक बार ट्राई करनी चाहिए। खैर फ़िलहाल तो आज के लिए बस इतना ही ऐसी ही और खबरों के लिए हमें फॉलो करना ना भूलें। यदि आपको अपने फ़ोन संबंधति कोई सवाल हो तो आप नीचे कमेंट कर हमसे पूछ सकते है हम आपके सभी सवालों का जवाब जरूर देंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here